Apni Pathshala

न्यूरालिंक ने टेलीपैथी का प्रदर्शन किया ब्रेन-चिप की मदद से लकवाग्रस्त शख्स ने खेला वीडियो गेम

चर्चा में क्यों –

हाल ही में, न्यूरालिंक ने एक विडियो जारी किया जिसमें एक पैरालिसिस व्यक्ति (नोलैंड आर्बॉघ) ‘न्यूरालिंक ब्रेन चिप’ की सहायता से कंप्यूटर पर गेम खेल रहा हैं। जनवरी 2024 में न्यूरालिंक ब्रेन चिप को नोलैंड आर्बॉघ के मस्तिष्क में लगाया गया था।

इसके पश्चात् एलन मस्क ने लकवाग्रस्त शख्स के दिमाग से वीडियो गेम खेलने के वीडियो पर प्रतिक्रिया दी और कहा कि ‘न्यूरालिंक ने टेलीपैथी का प्रदर्शन किया’। उन्होंने क्वाड्रिप्लेजिक पेशेंट नोलैंड आर्बॉघ का एक वीडियो शेयर किया जिसमें वो सिर्फ अपने दिमाग से वीडियो गेम और शतरंज खेलने के लिए न्यूरालिंक मस्तिष्क प्रत्यारोपण का उपयोग कर रहे हैं, जो ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफेस टेक्नोलॉजी पर रोशनी डालता है।

न्यूरालिंक क्या है?

न्यूरालिंक एक न्यूरोटेक्नोलॉजी कंपनी है जो मस्तिष्क-कंप्यूटर इंटरफेस (BCI) विकसित करती है। BCI एक ऐसा उपकरण है जो मस्तिष्क और कंप्यूटर के बीच संचार स्थापित करता है। यह लोगों को अपने विचारों का उपयोग करके कंप्यूटरों और अन्य उपकरणों को नियंत्रित करने की अनुमति देता है।

न्यूरालिंक का मुख्य उत्पाद एक छोटी चिप है जिसे मस्तिष्क में शल्य चिकित्सा द्वारा प्रत्यारोपित किया जाता है। यह चिप हजारों इलेक्ट्रोड से सुसज्जित है जो न्यूरॉन गतिविधि को मापते हैं। फिर संकेतों को वायरलेस रूप से एक बाहरी डिवाइस में भेजा जाता है, जो उन्हें डिकोड करता है और उन्हें कंप्यूटर कमांड में बदल देता है।

ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफ़ेस (BCI) क्या है?

  • ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफ़ेस (बीसीआई) एक ऐसी तकनीक है जो नसों और मांसपेशियों जैसे पारंपरिक न्यूरोमस्कुलर मार्गों का उपयोग किए बिना मस्तिष्क और कंप्यूटर या प्रोस्थेटिक्स जैसे बाहरी उपकरणों के बीच सीधे संचार को सक्षम बनाती है।
  • बीसीआई में आम तौर पर मस्तिष्क गतिविधि का पता लगाने के लिए सेंसर का उपयोग शामिल होता है, जिसे बाद में आदेशों या कार्यों में अनुवादित किया जाता है, जिससे व्यक्तियों को उपकरणों को नियंत्रित करने या अपने विचारों का उपयोग करके बाहरी दुनिया के साथ बातचीत करने की अनुमति मिलती है।

ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफ़ेस (BCI) के लाभ:

  • इसका उपयोग दिव्यांग व्यक्तियों की सहायता के लिए किया जा सकता है।
  • प्रौद्योगिकी के उपयोग से दिव्यांग व्यक्तियों के लिए नए उपकरण बनाया जा सकता है।
  • ब्रेन- कंप्यूटर इंटरफेस मस्तिष्क की गतिविधि को सटीक रूप से डिकोड करने में सक्षम हैं।
  • बीसीआई (BCI) पक्षाघात से पीड़ित लोगों को प्राकृतिक तरीके से संवाद करने की अधिक संभावनाएं प्रदान करता है।
Scroll to Top