Apni Pathshala

Reliance Industries pre-tax profit exceeds Rs 1 lakh crore

हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष 2024 में शानदार प्रदर्शन करते नया मुकाम हासिल किया हैं। कंपनी ने 1 लाख करोड़ रुपये के टैक्स-पूर्व मुनाफा का आंकड़ा पार किया। यह उपलब्धि हासिल करने वाली रिलायंस पहली भारतीय कंपनी बन गई है। इसके अलावा, कंपनी ने वित्त वर्ष 2024 में 10 लाख करोड़ रुपये की रिकॉर्ड सालाना आय भी दर्ज की है।

हालांकि, चौथी तिमाही में कंपनी का शुद्ध मुनाफा सालाना आधार पर 2% कम होकर 18,951 करोड़ रुपये रहा। लेकिन, तिमाही आधार पर यह 10% की बढ़ोतरी दर्शाता है। कंपनी की ऑपरेशंस से होने वाली आय में भी अच्छी वृद्धि देखने को मिली। यह सालाना आधार पर 11% बढ़कर 2.37 लाख करोड़ रुपये हो गई, जबकि तिमाही आधार पर इसमें 5.33% की वृद्धि हुई।

इन शानदार नतीजों के बावजूद, रिलायंस का शुद्ध मुनाफा पिछली तिमाही (Q3FY24) के 17,265 करोड़ रुपये की तुलना में थोड़ा कम रहा।

कुल मिलाकर, रिलायंस इंडस्ट्रीज का वित्त वर्ष 2024 का प्रदर्शन मिश्रित रहा है। कंपनी ने सालाना आधार पर कई रिकॉर्ड बनाए, लेकिन चौथी तिमाही में मुनाफे में थोड़ी गिरावट देखने को मिली।

रिलायंस इंडस्ट्रीज की तिमाही नतीजे: सभी मोर्चों पर शानदार प्रदर्शन

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी तिमाही नतीजे जारी किए हैं, और सभी चार प्रमुख क्षेत्रों – ऑयल टू केमिकल (O2C), ऑयल एंड गैस, रिटेल और जियो – में मजबूत वृद्धि दर्ज की है। यह कंपनी के लिए एक शानदार प्रदर्शन है, जो सभी मोर्चों पर आगे बढ़ रहा है।

रिलायंस जियो:

  • ARPU में वृद्धि: जियो का औसत राजस्व प्रति उपयोगकर्ता (ARPU) 178.8 रुपये से बढ़कर 181.7 रुपये प्रति माह हो गया है, जो सालाना आधार पर 1.6% की वृद्धि दर्शाता है।
  • ग्राहक आधार में विस्तार: कंपनी ने Q4 FY24 में 1.09 करोड़ नए ग्राहक जोड़े, जिससे इसकी कुल ग्राहक संख्या 46.2 करोड़ हो गई।
  • लाभ में वृद्धि: शुद्ध लाभ सालाना आधार पर 13% बढ़कर 5,337 करोड़ रुपये हो गया।
  • आय में वृद्धि: आय 11% बढ़कर 25,959 करोड़ रुपये हो गई।

रिलायंस रिटेल:

  • स्टोर की संख्या में वृद्धि: रिलायंस रिटेल ने 1,840 नए स्टोर खोले, जिससे कुल स्टोर की संख्या 18,836 हो गई।
  • मजबूत बिक्री: कंपनी की आय 10.7% बढ़कर ₹76,683 करोड़ हो गई, जो मुख्य रूप से कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स और फैशन एंड लाइफस्टाइल सेक्टर में मजबूत वृद्धि से प्रेरित है।
  • कैम्पा कोला का अधिग्रहण सफल: सॉफ्टड्रिंक ब्रांड कैम्पा कोला का अधिग्रहण रणनीतिक रूप से सफल रहा है, जिसने रिलायंस कंज्यूमर प्रोडक्ट्स की बिक्री में ₹400 करोड़ का योगदान दिया है।

रिलायंस ऑयल टू केमिकल:

  • आय में वृद्धि: O2C सेगमेंट की आय 11% बढ़कर ₹1,42,634 करोड़ हो गई।
  • ऑयल एंड गैस कारोबार में मजबूती: ऑयल एंड गैस की आय 42% बढ़कर ₹6,468 करोड़ हो गई।
  • मजबूत मार्जिन और लाभप्रदता: वैश्विक स्तर पर ईंधन की मजबूत मांग और सीमित रिफाइनिंग लचीलेपन ने मार्जिन और लाभप्रदता को बढ़ाया है।

कुल मिलाकर, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सभी प्रमुख मापदंडों पर मजबूत प्रदर्शन किया है। यह भारत की सबसे मूल्यवान कंपनी के रूप में अपनी स्थिति को मजबूत करता है और आने वाले वर्षों में और अधिक विकास की संभावना को दर्शाता है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 10 लाख करोड़ रुपये का ऐतिहासिक मुकाम हासिल किया –

  • रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष 24 में 10 लाख करोड़ रुपये का समेकित राजस्व हासिल किया, जो पिछले साल के 9.74 लाख करोड़ रुपये से 2.6% अधिक है।
  • यह उपलब्धि रिलायंस को प्री-टैक्स प्रॉफिट में 100,000 करोड़ रुपये पार करने वाली पहली भारतीय कंपनी बनाती है।
  • पिछले साल की समान तिमाही की तुलना में टैक्स क्रेडिट का लाभ उठाने के कारण टैक्स खर्च 138.8% बढ़कर 6,577 करोड़ रुपये हो गया।
Scroll to Top